कार्ड सत्यापन कोड CVV क्या होता है ? सम्पूर्ण जानकारी

कार्ड सत्यापन कोड CVV क्या होता है ? सम्पूर्ण जानकारी

कार्ड सत्यापन कोड CVV क्या होता है ? – वर्तमान समय में लगभग संपूर्ण भारत Digital Payment की राह पर चल चुका है | आज के समय में पूरे भारत में हर जगह ज्यादातर Cashless Transaction  ही होते हैं | लेकिन अभी भी जानकारी के अभाव के कारण अनेक लोग धोखाधड़ी का शिकार हो जाते हैं इसी के लिए आए दिन हमें साइबर Cyber अपराधियों द्वारा लोगों के Bank Account से पैसे चुराने के मामले देखने को मिलते हैं |

 

CVV  कोड किसे कहते हैं? CVV कोड कार्ड पर कहां होता है? What is a CVV Code?  Where does the CVV code occur on the card?

अपने Bank Account को सुरक्षित रखने के लिए एटीएम कार्ड /डेबिट कार्ड /क्रेडिट कार्ड ATM Card / Debit Card / Credit Card पर मौजूद Personal और महत्वपूर्ण जानकारी को Secure रखने की आवश्यकता है | दरअसल वर्तमान समय में बढ़ते Technology के कारण कई जगहों पर भुगतान करने के लिए हमें अपने एटीएम / डेबिट कार्ड / क्रेडिट कार्ड – ATM Card/ Debit Card/ Crdit Card से संबंधित जानकारी, जैसे – 16 अंकों का Card No. और PIN No. साझा करना होता है लेकिन  इसमें  कुछ लोग  धोखाधड़ी  का शिकार हो जाते हैं क्योंकि कार्ड पर  मौजूद CVV No. के माध्यम से अपना Data अपराधियों तक पहुंच जाते हैं जिससे वह आपके  बैंक खाते को साफ कर देते हैं |

यह भी पढ़े –

बैंक चेक (Bank Cheque) कैसे भरें – आसान तरीका

इसीलिए आज के इस आर्टिकल में हम जानेंगे- सीवीवी CVV क्या होता है, CVV कोड क्या है, कार्ड सत्यापन कोड क्या होता है, कार्ड वेरीफिकेशन वैल्यू Verification Value कोड क्या होता है, सीवीवी कोड CVV या कार्ड सत्यापन कोड क्यों जरूरी है, सीवीवी CVV कोड कैसे काम करता है, सीवीवी CVV कोड को किन-किन जगह पर शेयर कर सकते हैं?, अपने बैंक खाते को हैक होने से कैसे बचाएं और अपने व ATM Card  को हैंग होने से कैसे बचाएं ? इन सभी सवालों के जवाब आसान और हिंदी भाषा में हम आपको बताने का प्रयास कर रहे हैं इसलिए इस लेख को पूरा जरूर पढ़ें |

 

CVV कार्ड सत्यापन कोड (CVC) क्या है – Card Verification Value

 

सीवीवी कोड कार्ड वेरीफिकेशन वैल्यू CVV Code / Card Verification Value नंबर हमारे एटीएम / डेबिट कार्ड/ क्रेडिट कार्ड  के पीछे ब्लैक पट्टी के ठीक नीचे दर्ज किए हुए सिक्योर कोड Secure Code होता है | सीवीवी कोड / कार्ड सत्यापन कोड की मदद से एटीएम कार्ड /डेबिट कार्ड/ क्रेडिट कार्ड के लिए Online Transaction करना सिक्योरिटी Security की दृष्टि से मजबूत बना रहता है |

यह भी पढ़े –

घर बैठे Internet से Online पैसे कैसे कमाए? Online Paisa Kaise Kmaye? 

Credit Card /Debit Card /ATM Card ( क्रेडिट कार्ड/ डेबिट कार्ड / एटीएम कार्ड ) पर अंकित सीवीवी  CVV यानी कार्ड सत्यापन वैल्यू अनेक पिक्चर का संयोजन बना होता है | CVV के जरिए कार्ड मालिक की पहचान की जाती है जिससे किसी भी फ्रॉड Fraud होने से बचा जा सकता है | CVV (सीवीवी) को कार्ड वेरिफिकेशन कोड और कार्ड सिक्योरिटी कोड CSC के नाम से भी जाना जाता है |

 

CVV कोड की जानकारी – CVV Kya Hai

 

किसी भी डेबिट कार्ड /क्रेडिट कार्ड या एटीएम कार्ड में CVV के 2 भाग होते हैं | पहला कोड कार्ड जारी करने वाली कंपनी द्वारा चुंबकीय पट्टी (मैग्नेटिक स्ट्रिप) Magnetic Steep पर अंकित किया जाता है | यह मैग्नेटिक स्ट्रिप कार्ड के पीछे मौजूद होता है इन अंको पर बड़ी मात्रा में डाटा मोजुद होता है | 

CVV कोड कैसे काम करता है – How does CVV code work

 

जब हम कार्ड को ग्रेडर मशीन Swip Machine पर Swip करते हैं तो मशीन Card का बाइनरी डाटा Scan करके ट्रांजैक्शन को पूरा करती हैं | दूसरा Code एक अधिक संख्या वाला नंबर है जो Card के आगे की तरफ से लिखा होता है | Visa Card / Master Card / Discovere Card (विजा कार्ड /मास्टर कार्ड या डिस्कवर कार्ड) के पीछे हस्ताक्षर करने वाले स्थान के पास 3 अंकों का एक सीवीवी कोड होता है | जबकि अमेरिकन एसप्रेस American Experience कार्ड पर Cvv कोड कार्ड के आगे की तरफ 4 अंकों में अंकित होता है |

CVV Code (सीवीवी कोड) किसी भी कार्ड के मुख्य Data को स्टोर रखता है | अगर CVV कोड का सही इस्तेमाल किया जाए तो यह अनेक प्रकार के धोखाधड़ी मामलों से बचाने में सहायता करता है |

 

Internet के जरिए होने वाली Online Shopping में CVV Code अत्यंत आवश्यक है क्योंकि इससे भुगतान करने वाला Bank यह पता लगा सकें कि खाताधारक खुद अपने एटीएम /डेबिट/ क्रेडिट कार्ड का उपयोग कर रहा है |

यह भी पढ़े –

VPN क्या है? VPN का इस्तेमाल कैसे करें?

ATM Card/Debit Card/Credit Card की सुरक्षा के लिए CVV सीवीवी नहीं है पर्याप्त

 

CVV सीवीवी कोड कार्ड के पीछे की तरफ अंकित होता है इसीलिए अगर आप का कार्ड कहीं चोरी हो गया है या किसी ने आपके एटीएम कार्ड/ डेबिट कार्ड या क्रेडिट कार्ड को हैक कर लिया है तो सीवीवी कोड आपके एटीएम कार्ड/ डेबिट कार्ड /क्रेडिट कार्ड से निकलने वाली राशि को नहीं बचा सकता, क्योंकि जिसके पास आपका कार्ड है या जिसने आपका कार्ड हैक किया है उसके पास cvv सीवीवी नंबर भी मौजूद है |

 

इसीलिए CVV सीवीवी कोड /कार्ड सत्यापन नंबर आपके द्वारा भुगतान करने वाले ट्रांजैक्शन को सफलतापूर्वक संपन्न करता है परंतु सुरक्षा की दृष्टि से सीवीवी cvv नहीं बल्कि अपने एटीएम /डेबिट /क्रेडिट कार्ड और पिन पासवर्ड नंबर को भी सुरक्षित रखना आवश्यक है |

यह भी पढ़े –

Telegram क्या है और इसका इस्तेमाल कैसे करें?

CVV2 Kya Hai – CVV2 Ki Jankari

 

CVV (Card Verification Value) नंबर कार्ड के पीछे अंकित एक महत्वपूर्ण नंबर है जो CSC numbers (Card Security Code) या फिर CVV2 numbers कहलाते हैं | cvv2 नंबर वास्तव में सीवीवी CVV नंबर ही होते हैं |

 

दरअसल, सीवीवी CVV कोड को सिक्योरिटी की दृष्टि से cvv2 नंबर में कन्वर्ट किया जाता है , ताकि ऑनलाइन ट्रांजैक्शन को अधिक सुरक्षित बनाया जा सके और ई-कॉमर्स क्षेत्र को भी बढ़ावा मिल सकें | इन cvv2 कोड जनरेट की वजह से ऑनलाइन ट्रांजैक्शन को अधिक सुरक्षित  बनाया जा सकता है |

 

Online Transaction को एटीएम कार्ड ATM card कंपनी के अलावा भारत सरकार नें सुरक्षित बनाए रखने के लिए इस दिशा में सिक्योरिटी फीचर 3D पासवर्ड को शुरू किया है जिसमें आप किसी को भी भुगतान करेंगे तो आप को Account Details दर्ज करने के बाद ATM Pin और New Password दर्ज करना होगा, जिसमें उसके बाद ही आप ऑनलाइन ट्रांजैक्शन कर सकेंगे |

यह भी पढ़े –

आईओएस (iOS) क्या है? What is iOS ? पूरी जानकारी हिंदी में

अगर किसी ने आपके ATM Card/Debit Card / Credit Card का PIN नंबर पता कर लिया है फिर भी वह ऑनलाइन ट्रांजैक्शन नहीं कर सकता, क्योंकि सरकार ने ऑनलाइन होने वाले प्रत्येक Transaction के बीच में एक 3D पासवर्ड जोड़ दिया है जो सिक्योरिटी के मामले में काफी कारगर है |

 

Online Payment करते समय किन-किन बातों का ध्यान रखना चाहिए?

 

Online Payment करते वक्त आपको अपने क्रेडिट कार्ड/ डेबिट कार्ड या एटीएम कार्ड ATM/ Debit /Credit का कार्ड नंबर शेयर नहीं करना चाहिए | अपने किसी भी कार्ड पर मौजूद PIN नंबर को किसी के साथ शेयर नहीं करना चाहिए | फ्रॉड से बचने के लिए Otp ओटीपी, कार्ड के पीछे अंकित सीवीवी या कार्ड से जुड़ी अन्य महत्वपूर्ण जानकारियों को हमेशा गोपनीय बनाए रखें |

 

अगर आप शॉपिंग करते हैं तो लोकप्रिय और विश्वसनीय वेबसाइट Website से ही शॉपिंग, रिचार्ज, बिल पे Shopping, Recharge, Bill Pay करें ताकि आपका खाता हमेशा सुरक्षित बना रहे |

यह भी पढ़े –

PDS – Public Distribution System क्या है? सार्वजनिक विवरण प्रणाली के बारे में जानकारी |

Admin

One thought on “कार्ड सत्यापन कोड CVV क्या होता है ? सम्पूर्ण जानकारी

Leave a Reply